देश की प्राइवेट लैब्स में कोरोना टेस्ट शुरू, पंजाब में मंजूरी न देने से कई सवाल खड़े हुए

प्राइवेट लैब्स में टेस्ट शुरू होते हैं तो कोरोना कंट्रोल करने में मदद मिलेगी

रवि रौणखर, जालंधर

पुलिस ने बुधवार को जालंधर में खुली डायग्नोस्टिक लैब को बंद करवा दिया। शहीद उधम सिंह नगर की एक लैब में अस्पतालों से आए जरूरी ब्लड टेस्ट किए जा रहे थे। हालांकि लैब प्रबंधकों ने भी पुलिस के साथ सहयोग किया और तुरंत लैब का शटर डाउन कर दिया। यहां एक सवाल यह भी उठता है कि प्राइवेट लैब्स को कोरोना टेस्ट की मंजूरी क्यों नहीं दी जा रही। जबकि केंद्रीय स्वास्थ मंत्रालय ने प्राइवेट लैब्स को अधिकतम 4500 रुपए टेस्ट फीस वसूलने की मंजूरी दी है।

सरकार ने हालांकि लैब्स को गुजारिश भी की है कि प्राइवेट लैब चाहें तो फ्री में टेस्ट कर दें।

साथ ही सरकार ने यह भी लिखा है कि अगर हो सके तो टेस्ट फ्री में ही कर दिया जाए। दूसरे राज्यों में प्राइवेट लैब्स टेस्ट कर रही हैं। अब पंजाब सरकार क्यों प्राइवेट लैब्स को मंजूरी नहीं दे रही यह समझ से परे है। यहां की लैब अगर टेस्ट नहीं कर सकती तो कम से कम उन्हें सैंपल कलेक्ट करने की मंजूरी तो दी जानी चाहिए। सैंपल बड़ी लैब्स में भेजा जा सकते हैं जिससे रिपोर्टिंग तेज होगी और आखिर में कोरोना से लड़ाई में सहयोग मिलेगा।

सिविल अस्पताल के फ्लू कॉर्नर में पूरे साजोसामान के साथ काम करते डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ

सब जानते हैं कि सरकार के पास सीमित टेस्ट करने की क्षमता है। ऐसे में जालंधर की दर्जनों प्राइवेट लैब्स भी कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल ले सकती हैं। इससे टेस्टिंग भी तेज होगी और पॉजीटिव मरीज और उनके संपर्क में आए बाकी लोगों को भी अलग थलग किया जा सकेगा।

जालंधर की प्राइवेट लैब कोरोना टेस्ट क्यों नहीं कर सकतीं ?

Dr TP singh
एसएमओ डॉ. टीपी सिंह

पंजाब सरकार का सेहत विभाग इस तर्क से सहमत नहीं है कि प्राइवेट लैब्स को कोरोना टेस्ट की मंजूरी मिलनी चाहिए। सिविल सर्जन दफ्तर में तैनात सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. टीपी सिंह ने बताया कि अगर हम प्राइवेट लैब्स को टेस्ट की अनुमति देते हैं तो उससे असमंजस की स्थिति पैदा हो सकती है। अगर एक भी टेस्ट फाल्स नेगेटिव या फाल्स पॉजिटिव आता है तो उसका खामियाजा शहर को भरना पड़ेगा। हमने पिछले दो दिन में 25 संदिग्ध मरीजों के सैंपल टेस्ट के लिए भेजे हैं। जबकि उससे पहले भेजे गए 20 में से 17 सैंपल नेगेटिव रहे हैं। तीन पॉजिटिव आए हैं।

false negative is a test result that indicates a person does not have a disease or condition when the person actually does have it,

अगर आपके पास कोई सूचना या विचार है तो 7696310022 या 9872310022 पर शेयर करें

Fight Corona in Punjab

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *